Home पटना तेजस्वी यादव पर JDU नेता ने कसा तंज, कहा- आपदा में भाग खड़े होने वाले मांग रहे सेवा का हिसाब

तेजस्वी यादव पर JDU नेता ने कसा तंज, कहा- आपदा में भाग खड़े होने वाले मांग रहे सेवा का हिसाब

3 second read
0
0
183

पटना: कोरोना संकट के बीच बिहार में राजनीति जारी है. नेता प्रतिपक्ष की तरफ से स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोलने के बाद जेडीयू ने बड़ा वार किया है. इस बार सत्ताधारी जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह (RCP Singh) आगे आए हैं. राष्ट्रीय अध्यक्ष ने तेजस्वी (Tejashwi Yadav) पर वार करते हुए कहा कि कुछ लोग ओछी राजनीति से बाज नहीं आ रहे. हर मुश्किल वक्त में बिहार से भाग खड़े होने वाले आज नीतीश सरकार से सेवा का हिसाब मांग रहे हैं. जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि जनसहयोग से हम लोग जल्द ही कोरोना के खिलाफ जंग को जीतेंगे.

आरसीपी सिंह ने कहा कि बिहार में नीतीश सरकार ने फिर सेवा और तत्परता की मिसाल कायम की है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कुशल नेतृत्व में आज बिहार 18 से 44 वर्ष के लोगों के टीकाकरण में पहले स्थान पर है. बिहार सरकार ने मुफ्त टीकाकरण के लिए 4165.5 करोड़ रुपए खर्च करने की स्वीकृति दी है और इसमें से 1000 करोड़ रुपए तत्काल आवंटित भी कर दिए गए

आरसीपी सिंह ने कहा कि सरकार और स्वास्थ्यकर्मियों के अथक प्रयत्न और जनसहयोग का ही नतीजा है कि बिहार में संक्रमण की दर लगातार कम हो रही है. वर्तमान में यह दो प्रतिशत के आसपास है. सरकार ब्लैक फंगस को लेकर भी तमाम जरूरी कदम उठा रही है. जदयू कार्यकर्ताओं से मेरी अपील है कि वे अपना और अपने परिवार की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए कोरोना और ब्लैक फंगस को लेकर सरकार द्वारा किए जा रहे उपायों को घर-घर पहुंचाने की हरसंभव कोशिश करें. खासकर वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करें. आगे उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार एईएस (एक्यूट इन्सेफ्लाइटिस सिंड्रोम), जेई (जापानी इंसेफ्लाइटिस), हीट वेव और कालाजार को लेकर भी चौकस है. जदयू कार्यकर्ता इन बीमारियों को लेकर भी लोगों को जागरुक करें.

राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कहा कि ये राजनीति नहीं, सेवा का समय है. हर किसी को दलगत सीमाओं से ऊपर उठकर मानवता की चिन्ता करनी चाहिए. लेकिन ऐसे समय भी कुछ लोग ओछी राजनीति से बाज नहीं आ रहे. हर मुश्किल वक्त में बिहार से भाग खड़े होने वाले आज नीतीश सरकार से सेवा का हिसाब मांग रहे हैं, यह अत्यन्त दुर्भाग्यपूर्ण और निन्दनीय है.

Load More By RNI NEWS BIHAR
Load More In पटना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार में नौकरी की तलाश कर रहे उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर, होगी 45 हजार से अधिक सरकारी शिक्षकों की भर्ती, देखें पूरी जानकारी

पटना : बिहार प्राथमिक विद्यालयों और माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षक की नौकरी तलाश कर रहे उम…