Home बिहार पटना बिहार में कोई ग्रीन जोन नहीं, कुछ छूट के साथ जारी रहेंगी पाबंदियां

बिहार में कोई ग्रीन जोन नहीं, कुछ छूट के साथ जारी रहेंगी पाबंदियां

0 second read
0
0
137

पटना । केंद्रीय गृह मंत्रालय के रविवार के आदेश के अनुसार देश में लॉकडाउन 14 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया है। इसके प्रावधानों पर नजर डालें तो फिलहाल आम आदमी को कोई खास राहत मिलती नहीं दिख रही। गृह मंत्रालय के आदेश में इस बार रेड जोन, ग्रीन जोन और ऑरेंज जोन के अलावा कंटेनमेंट जोन और बफर जोन को भी शामिल किया गया है। बिहार के सभी जिलों में कोरोना संक्रमण केंद्र सरकार ने राज्यों को उनके यहां कोरोना की स्थिति के अनुसार जोन निर्धारित करने के अधिकार दिए गए हैं। बिहार की बात करें तो यहां कोई ग्रीन जोन नहीं है।

सभी 38 जिलों तक फैला संक्रमण

बिहार के सभी 38 जिलों में कोराना का संक्रमण फैल चुका है। संक्रमण के लिहाज से पटना राज्य में सर्वाधिक मामलों के साथ करोना की राजधानी बन गया है, इसलिए यहां फिलहाल राहत की उम्मीद नहीं है। पटना में मिले सर्वाधिक मामले, दूसरे स्थान पर मुंगेर बिहार में पटना, मुंगेर, रोहतास, नालंदा, बक्सर, बेगूसराय, मधुबनी, सिवान व खगडि़या आदि जिलों में अधिकांश मामले मिले हैं। शनिवार तक मुंगेर में सर्वाधिक मामले थे, लेकिन रविवार को सर्वाधिक मामलों के साथ पटना टॉप पर पहुंच गया है।

बिहार के पांच जिले रेड जोन में

बिहार की बात करें तो राज्य के पांच जिले रेड जोन में तो शेष सभी 33 जिले ऑरेंज जोन में हैं। विदित हो कि केंद्र सरकार ने पटना सहित पांच जिलों को रेड जोन में तथा 20 जिलों को ऑरेंज व 13 जिलों को ग्रीन जोन में रखा था। केंद्र सरकार द्वारा इस संबंध में जारी गाइडलाइन्‍स में यह भी लिखा है कि राज्य सरकार चाहे तो अपनी जरूरतों के अनुसार इसमें परिवर्तन कर सकती है। इसी के तहत राज्य सरकार ने ग्रीन जोन में रखे गए जिलों को ऑरेंज जोन में शामिल कर लिया है। गाइडलाइन्स में कुछ अन्य परिवर्तन भी किए गए हैं।

पटना के खाजपुरा औऱ मुंगेर का जमालपुर डेंजर

केंद्र सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन के मुताबिक, इस बार सभी इलाकों को पांच जोन में बांटा गया है। रेड व ऑरेंज जोन में कंटेनमेंट जोन व बफर जोन का निर्धारण राज्‍य सरकार को जिला प्रशासन की अनुशंसा पर करना है। कहा जा सकता है कि मुख्‍य रूप से जोन तीन ही होंगे, बाकी के दो जोन (कंटेनमेंट और बफर)  रेड और ऑरेंज जोन के भीतर निर्धारित किए जाएंगे।

बिहार की बात करें तो सबसे अधिक संक्रमित पटना के खाजपुरा और दूसरे नंबर में मुंगेर के जमालपुर को कंटेनमेंट जोन में रखते हुए पाबंदियां जारी रहेंगी।

बिहार के रेड और ऑरेंज जोन वाले जिले

रेड जोन

पटना, मुंगेर, रोहतास, बक्सर और गया।

ऑरेंज जोन

नालंदा, कैमूर, सिवान, गोपलगंज, भोजपुर, बेगूसराय, औरंगाबाद, मधुबनी, पूर्वी चंपारण, भागलपुर, अरवल, सारण, नवादा, लखीसराय, बांका, वैशाली, दरभंगा, जहानाबाद, मधेपुरा, पूर्णिया, शेखपुरा, अररिया, जमुई, कटिहार, खगड़िया, किशनगंज, मुजफ्फरपुर, पश्चिम चंपारण, सहरसा, समस्तीपुर शिवहर, सीतामढ़ी और सुपौल।

पहले से जारी पाबंदियां जो आगे भी लागू रहेंगीं

– कंटेनमेंट जोन में किसी गतिविधि की इजाजत नहीं रहेगी।

– सभी शिक्षण संस्थाएं बंद रहेंगी।

– ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा दिया जाएगा।

– घरेलू और अंतराष्ट्रीय उड़ानें बंद रहेंगी।

– होटल और रेस्टोरेंट बंद रहेंगे।

– शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक बगैर अनुमति बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी।

पूरे देश में 25 मार्च से लागू है लॉकडाउन

विदित हो कि कोरोना संक्रमण की चेन रोकने के लिए देश में बीते 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है। लॉकडान का पहला चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक रहा, जिसमें केवल जरूरी सामान के लिए छूट दी गई। लॉकडाउन का दूसरा चरण 15 अप्रैल से 2 मई तक चला। इस दौरान हॉट स्पॉट छोड़ ऑरेंज व ग्रीन जाने में दुकानें खालने की अनुमति दी गई। आगे चार मई से 17 मई तक लॉकडाउन के तीसरे चरण में कुछ शर्तों के साथ फैक्ट्रियां खोलने की अनुमति दी गई। अब सोमवार से लॉकडाउन का चौथा चरण आरंभ हो रहा है, जिसमें ऊपर दी गई सभी छूट जारी रहेगी।

Load More By Bihar Desk
Load More In पटना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …