Home झारखंड मरीज ठीक होने के मामले में देश में नंबर 1 रांची, CM हेमंत बोले- रोल मॉडल बनकर उभरी

मरीज ठीक होने के मामले में देश में नंबर 1 रांची, CM हेमंत बोले- रोल मॉडल बनकर उभरी

2 second read
0
0
25

रांची. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने कहा कि रांची (Ranchi) देश के समक्ष कोरोना से जंग में रोल मॉडल बनकर उभरी है. इसका पूरा श्रेय रांची जिला प्रशासन, डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों और बिना स्वार्थ भाव से जनता की सेवा कर रही समाजसेवी संस्थाओं को जाता है. ना सिर्फ रांची ने कोरोनावायरस (COVID-19) से जंग जीती है, बल्कि सामाजिक सौहार्द की भी अनूठी मिसाल कायम की है. उन्होंने कहा कि याद रहे, हम साथ मिलकर ही इस महामारी को हरा सकते हैं. इसलिए पुनः आग्रह है आपस में दूरी बनाएं, पर दिलों को जरूर जोड़े रखें.दरअसल देश के विभिन्न शहरों की तुलना में रांची का रिकवरी रेट (कोरोना मरीजों के ठीक होने की गति) सबसे अधिक है. लखनऊ, आगरा, सूरत, जोधपुर, भोपाल और कोलकाता जैसे शहर इस मामले में रांची से काफी पीछे हैं. रांची में अब तक कोरोना संक्रमण के 104 मामले मिले हैं, जिनमें से 83 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं. फिलहाल राजधानी में कोरोना संक्रमण के मात्र 21 सक्रिय मामले हैं. यही गति बनी रही, तो रांची आने वाले कुछ दिनों में रेड जोन से बाहर हो जाएगी. मरीजों के स्वस्थ होने के मामलों में देश के कई बड़े शहर रांची से पीछे हैं.कोरोना मरीज के मामले में टॉप पर रहने वाली रांची अब राज्य में दूसरे नंबर पर आ गया है. अब सबसे ज्यादा गढ़वा में 25 मरीज हैं. राज्य में मात्र रांची जिला ही रेड जोन में है. शनिवार को यहां एक साथ 11 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे. इन्हें गांधीनगर के सीसीएल अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया. कोरोना को मात देने वाले रोशन तिर्की ने बताया कि अस्पताल में डॉक्टरों और नर्स का सहयोग काफी अच्छा रहा. इसी की वजह से उन लोगों ने कोरोना से जंग जीत ली.

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …