Home झारखंड झारखंड के लातेहार में 5 वर्षीय बच्ची की भूख से मौत! 3 दिन से घर में नहीं था अनाज

झारखंड के लातेहार में 5 वर्षीय बच्ची की भूख से मौत! 3 दिन से घर में नहीं था अनाज

5 second read
0
0
47

लातेहार.  कोरोना संकट के बीच झारखंड के लातेहार (Latehar) से दुखद खबर आई है. परिजनों के मुताबिक पांच वर्षीय बच्ची (Girl) की भूख से मौत (Hunger Death) हो गई. मामला मनिका प्रखंड के हेसातु गांव का है. जुगलाल भुइयां की पांच वर्षीय पुत्री की भूख से मौत की बात सामने आई है. पीड़ित परिवार ने बताया कि पिछले तीन दिन से घर में अनाज का एक दाना नहीं था. उससे पहले जैसे-तैसे पड़ोसियों से अनाज मांगकर अपना और बच्चों का पेट भरा, लेकिन पिछले तीन दिन से घर में अनाज नहीं होने के कारण चूल्हा नहीं जला. इस वजह से भूख से बेटी की मौत हो गई.हालांकि मामले की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन एक्टिव हो गया. आनन-फानन में शनिवार रात घर जाकर अनाज पहुंचा दिया. इस मामले की छानबीन करने रविवार को गांव पहुंचे एसडीएम सागर कुमार ने बताया कि बच्ची की भूख से मौत नहीं हुई है बल्कि लू लगने और बीमार से होने की आशंका है. एसडीएम ने बताया कि पीड़ित परिवार को सरकारी लाभ दिया जाएगा.मामले की सूचना पर गांव पहुंचे मनरेगा वाच समिति के सदस्य ज्यां द्रेज ने बच्ची की मौत के लिए सरकार और जिला प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया. साथ ही राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए उसे गरीब विरोधी बताया. उन्होंने कहा कि सरकार के गरीबों को चावल देने का दावा खोखला साबित हो रहा है. जबकि जरूरतमंदों तक अनाज नहीं पहुंचने से बच्चे कुपोषण के शिकार हो रहे हैं.पीड़ित परिवार के पास राशन कार्ड भी नहीं है. इसलिए किसी प्रकार की सरकारी सहायता प्राप्त नहीं होती. बेटी का पिता ईंट-भट्ठा में दिहाड़ी मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करता है, लेकिन लॉकडाउन में बेरोजगार होकर घर बैठ गया है. परिवार में तीन और छोटे-छोटे बच्चे हैं.

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …