Home ताजा खबर औरंगाबाद रेल दुर्घटना – लोको पायलट ने ट्रेन को रोकने की कोशिश की, लेकिन

औरंगाबाद रेल दुर्घटना – लोको पायलट ने ट्रेन को रोकने की कोशिश की, लेकिन

35 second read
0
0
318

औरंगाबाद। महाराष्ट्र में दक्षिण मध्य रेलवे (SCR) के नांदेड़ डिवीजन के जालना और औरंगाबाद के बीच एक मालगाड़ी 15 से अधिक प्रवासी मजदूरों के ऊपर से गुजर गई। रेलवे अधिकारी ने बताया कि हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई है और 5 लोग घायल हो गए। घायलों को औरंगाबाद के सिविल अस्पताल भेजा गया है।

इस मामले में रेलवे ने सफाई देते हुए कहा है कि शुक्रवार सुबह ट्रैक पर कुछ मजदूरों को देखने के बाद मालगाड़ी के लोको पायलट ने ट्रेन को रोकने की कोशिश की, लेकिन परभणी-मनमाड सेक्शन के बदनपुर और करमाड स्टेशनों के बीच उन्हें टक्कर लग गई। घायलों को औरंगाबाद सिविल अस्पताल ले जाया गया है। जांच के आदेश दिए गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि महाराष्ट्र के औरंगाबाद में हुए रेल हादसे की खबर से मैं दुखी हूं। मैंने रेल मंत्री पीयूष गोयल से बातचीत की है और वे इस मामले पर बारीकी से नज़र रखे हुए हैं। सभी जरूरी मदद की जा रही है।

महाराष्ट्र: औरंगाबाद हादसे में 14 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र के औरंगाबाद ज़िले में हुई रेल दुर्घटना अत्यंत दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। इस हादसे में अपनों को खोने वाले लोगों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं घायलों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना करता हूं।

औरंगाबाद के एसपी मोक्षदा पाटिल ने बताया कि सुबह 5:15 बजे बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई, एक मालगाड़ी गुजर रही थी उसके नीचे मजदूर आ गए। इसमें 16 मजदूरों की मौत हो गई। एक घायल है, 4 लोग जो दूर बैठे थे उनसे हम पूछताछ कर रहे हैं। जो आदमी बचा है उसने बताया है कि ये लोग जालना से निकले थे और भूसावल जाना चाहते थे, जहां से वो ट्रेन पकड़ना चाहते थे। ये पैदल जा रहे थे, पटरी पर वो आराम करने के लिए लेटे ​थे, उनको नींद आ गई और ये हादसा हो गया।
 

Load More By Bihar Desk
Load More In ताजा खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …