Home बिहार पटना आइजीआइएमएस और खेमनीचक में फिर कोरोना की दस्तक, मिले दो नए संक्रमित

आइजीआइएमएस और खेमनीचक में फिर कोरोना की दस्तक, मिले दो नए संक्रमित

0 second read
0
0
280

पटना। राजाबाजार स्थित इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आइजीआइएमएस) और खेमनीचक में बुधवार को फिर से कोरोना ने दस्तक दे दी। आइजीआइएमएस की नर्स और खेमनीचक के बाईपास रोड स्थित शिवपुर निवासी 20 वर्षीय युवक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। दो नए रोगियों के साथ पटना में कोरोना संक्रमितों की संख्या 46 हो गई है।

जिलाधिकारी कुमार रवि के अनुसार खेमनीचक निवासी युवक की गली और आइजीआइएमएस परिसर में नर्स के घर के आसपास को प्रतिबंधित जोन घोषित कर दिया गया है। दोनों जगह को सील किया जा रहा है। इसके साथ ही पटना में 16 प्रतिबंधित क्षेत्र हो गए हैं। 

 27 संक्रमितों की पहली रिपोर्ट आ चुकी है निगेटिव 

राजधानी क्षेत्र में अब तक 46 लोग संक्रमित हो चुके हैं। साथ ही इनके  ठीक होने की रफ्तार काफी तेज है। अबतक सात लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। वहीं 27 संक्रमितों की पहली रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। सिर्फ 12 लोग ही हैं, जिनका अभी उपचार चल रहा है और वे संक्रमित हैं।

  अल्ट्रासाउंड कराने गई थी गर्भवती नर्स, मिली कोरोना पॉजिटिव 

सिविल सर्जन डॉ. राजकिशोर चौधरी ने बताया कि आइजीआइएमएस के जनरल सर्जरी विभाग की नर्स कैंपस परिसर में ही रहती है। गर्भवती होने के कारण वह पांच मई को संस्थान में अल्ट्रासाउंड कराने गई थी। जांच के पूर्व कोरोना जांच के लिए उसे भर्ती किया था। बुधवार की शाम उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। अब उसे एनएमसीएच भेजा जा रहा है। अब तक आइजीआइएमएस की दो नर्सें, एक सफाई कर्मी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। वहीं दो डॉक्टरों की रिपोर्ट माइल्ड पॉजिटिव आई थी। साथ ही यहां भर्ती पांच मरीज भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

  युवक ने नाई से कटवाए थे बाल, गया था दवा दुकान

सिविल सर्जन के अनुसार, खाजपुरा का युवक तीन दिन पूर्व एक दुकान से दवा लाने गया था और शिवनगर मंदिर के पास एक नाई से बाल कटाए थे। ऐसे में उसके संपर्क में कितने लोग आए होंगे, उनकी तलाश की जा रही है। इसके अलावा वह शरणम हॉस्पिटल के पास रहने वाले अपने बीमार दोस्त को देखने सात दिन पहले गया था। आशंका है कि युवक अपने दोस्त के संपर्क में आने से संक्रमित हुआ होगा। फिलहाल युवक की मां, बहन, दादी, एक दोस्त और किराएदार का नमूना लेकर जांच को भेजा गया है। एक दोस्त और उसके पिता जो युवक के साथ है, उनका नमूना भी लेकर जांच को भेजा जा रहा है। युवक के पिता सोने-चांदी का काम करते हैं। वहीं स्वजनों के अनुसार युवक को दस दिन से बुखार था। एनएमसीएच के पहले वह पीएमसीएच भी गया था लेकिन वहां लक्षण नहीं मिले थे। खेमनीचक स्थित बेईमान टोला निवासी दोस्त के घरवालों के भी नमूने गुरुवार को जांच के लिए भेजे जाएंगे।

Load More By Bihar Desk
Load More In पटना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …