Home झारखंड मई-जून महीने में होने वाले झारखंड के 14 नगर निकायों के चुनाव टले

मई-जून महीने में होने वाले झारखंड के 14 नगर निकायों के चुनाव टले

4 second read
0
0
154

मई-जून महीने में होने वाले झारखंड के 14 नगर निकायों के चुनाव टल गए हैं। इसके तहत दो साल के अंदर बने छह नगर निकायों गोमिया, बड़की सरिया, धनवार, हरिहरगंज, बचरा और महागामा में पहली बार चुनाव होने थे। इसी तरह धनबाद, देवघर, चास, चक्रधरपुर, झुमरी तिलैया, विश्रामपुर, कोडरमा और मझियांव नगर निकायों में भी कार्यकाल पूरा होने के कारण चुनाव की तैयारी की गई थी। इससे अलग विभिन्न नगर निकायों के पांच वार्डों की खाली सीट पर उपचुनाव कराने की योजना बनाई गई थी।

राज्य निर्वाचन आयुक्त एनएन पांडेय ने नगर निकायों के चुनाव टालने की औपचारिक घोषणा की है। इसका आदेश जारी कर दिया गया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने अपने फैसले से राज्य सरकार को भी अवगत करा दिया है। कोरोना से पैदा हुई स्थिति के सामान्य होने के बाद अब चुनाव कराए जाएंगे। लॉकडाऊन हटने के बाद राज्य निर्वाचन आयोग नए सिरे से नगर निकायों के चुनाव का टाइमलाइन तय करेगा। स्थिति पूरी तरह सामान्य होने के बाद ही चुनाव तारीखों की घोषणा संभव है। राज्य निर्वाचन आयुक्त एन एन पांडेय ने राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाकर राय मांगी। इसके बाद चुनाव के स्थगित कर देने की घोषणा की गई। राज्य निर्वाचन आयुक्त ने अपने आदेश में कहा है कि दलीय आधार पर हो रहे चुनाव की हर प्रक्रिया में भीड़-भाड़ का होना सामान्य है। ऐसी स्थिति में सामाजिक एवं शारीरिक दूरी बनाए रखना असंभव है।
10 जिलों में होने थे चुनाव: मई-जून में होने वाले चुनाव के तहत प्रदेश के 10 जिलों के 14 नगर निकायों में कुल  311 वार्ड पार्षद, तीन महापौर, तीन उपमहापौर, 11 अध्यक्ष और 11 उपाध्यक्ष चुने जाने हैं। इससे अलग के नगर निकायों में पांच वार्डों के उपचुनाव की तैयारी भी की जा रही थी। चुनाव वाले नगर निकायों में वार्डों के परिसीमन और आरक्षण का काम पूरा हो गया था।

 कोरोना से पार पाते ही झामुमो, भाजपा, कांग्रेस, झाविमो, आजसू और राजद समेत सभी प्रमुख दलों की ओर नगर निकाय चुनाव में फतह हासिल करने की तैयारी की जा रही थी। इन 14 नगर निकायों में पहली बार दलीय आधार पर मेयर-डिप्टी मेयर या अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के चुनाव होने थे। आठ नगर निकायों में पिछली बार 2015 में चुनाव हुए थे। उस समय नगर निकायों में दलीय आधार पर चुनाव लागू नहीं हुआ था। नए छह निकायों को पहली बार में ही दलीय आधार पर चुनाव का सामना करना है। वार्ड पार्षदों के चुनाव दलीय आधार पर नहीं होते हैं।

यहां होने हैं चुनाव
नगर निगम: धनबाद, देवघर, चास
नगर परिषद: विश्रामपुर, झुमरी तिलैया, गोमिया, चक्रधरपुर नगर पंचायत: कोडरमा, बड़की सरिया, मझियांव, धनवार, हरिहरगंज, बचरा, महागामा

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …