Home बिहार जालंधर, सहारनपुर के बाद बिहार के सीतामढ़ी से हुए हिमालय के दर्शन

जालंधर, सहारनपुर के बाद बिहार के सीतामढ़ी से हुए हिमालय के दर्शन

27 second read
0
0
180

सहारनपुर। लॉकडाउन में लोगों ने पहली बार प्रकृति को इतनी नजदीक से देखा व उससे जुड़ाव महसूस किया। वाहन-फैक्ट्री सब बंद होने से हवा साफ व धूल-धुएं से मुक्त हो गई है। प्रकृति के नजारे आम हो गए हैं। जी हां, नीले आसमान में दृश्यता का आलम यह है कि सहारनपुर से अपर हिमालयन रेंज की पहाड़ियां तक आसानी से देखी जा रही हैं।

ऐसे ही कुछ खुशनुमा पल सहारनपुर के इनकम टैक्स अधिकारी दुष्यंत कुमार सिंह ने अपने कैमरे में कैद किए है। दुष्यंत सिंह के अनुसार, रविवार शाम बारिश के बाद नजारा देखकर वह भी एक बार चौक गए। चकराता से ऊपर की और गंगोत्री-यमुनोत्री पर्वत शृंखला की बंदरपूंछ आदि की पहाड़ियां साफ दिखाई दे रही थीं। इसे उन्होंने अपने कैमरे में कैद कर लिया।

दुष्यंत सिंह की अध्यापक पत्नी निधि बताती हैं कि यह पहाड़ियां करीब 200 किलोमीटर दूर हैं। खास है कि अभी तक वायुमंडल में पसरे घने प्रदूषण के चलते देहरादून-मसूरी की पहाड़ियां भी कभी-कभार बारिश के बाद मुश्किल से दिखाई देती थी, लेकिन आज अपर हिमालयन रेंज की पर्वत शृंखलाएं सहारनपुर से दिखाई दे रही हैं।

हवाओं को साफ व प्रदूषण मुक्त बनाने का जो काम पूरी सरकारी मशीनरी न कर पाई उसे लॉकडाउन ने कर दिखाया। लॉकडाउन के चलते वाहन फैक्ट्री सब बंद होने से धूल धुंए के साथ हवा में हानिकारक गैसें आदि का प्रभाव खत्म हो गया और लोगों ने पहली बार प्रकृति को इतनी नजदीक से देखा और उसकी अप्रतिम सुंदरता का अहसास किया है।

प्रदूषण विभाग के अनुसार, लॉकडाउन के चलते हवाओं की गुणवत्ता में करीब 35% तक सुधार है। जिले का एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी एक्यूआई लेवल 70 पर आ गया है। जो दिवाली के आसपास 300 के पार पहुंच जाया करता था और 120-125 से कम तो कभी आता ही नहीं था। सहायक वैज्ञानिक अधिकारी गीतेश चंद्र कहते हैं कि लॉकडाउन में वाहन फैक्ट्री आदि सब बंद है। बारिश में धूल-धुंआ आदि सब धुल गया है तो आसमान साफ दिखेगा ही।

सीतामढ़ी में लॉकडाउन की वजह से वाहनों के परिचालन पर लगी रोक के कारण आई पर्यावरण में शुद्धता के कारण सीतामढ़ी में प्रकृति की एक सुंदर और मनोरम तस्वीर सामने आई है।  नेपाल की सीमा से सटे बिहार के सीतामढ़ी जिले के कई हिस्सों से अब पर्वतराज हिमालय की चोटियां साफ साफ दिखने लगी हैं।

कोरोना महामारी में लोगों का घर से बाहर निकलना तकरीबन बंद है। लिहाजा वायु प्रदूषण का स्तर बेहद कम हो गया है । पर्यावरण इतना स्वच्छ हो गया है कि बगैर किसी दूरबीन के सीतामढ़ी के कई हिस्सों के लोग हिमालय की चोटियाां देख पा रहे हैं। हिमालय की चोटी दिखने की एक तस्वीर और वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि हिमालय पर्वत सीतामढ़ी से दिखने लगा है। वैसे कई लोगों द्वारा ये कहा जा रहा है कि यह हिमालय पर्वत है तो वहीं दूसरे कई अन्य लोग इसे नेपाल की दूसरी पर्वत श्रेणी बता रहे हैं।

Load More By Bihar Desk
Load More In बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …