Home योग और स्वास्थ्य समस्त रोगों का इलाज है कपालभाति प्राणायाम: जानिये इसके फायदे

समस्त रोगों का इलाज है कपालभाति प्राणायाम: जानिये इसके फायदे

0 second read
Comments Off on समस्त रोगों का इलाज है कपालभाति प्राणायाम: जानिये इसके फायदे
0
60

रोजाना की व्यस्त जिंदगी में आज कल लोगों को बड़ी भागदौड़ होती है, लोग थक जाते है और धीरे धीरे बीमारी उनके शरीर को घेर लेती है तो ऐसे में बाबा रामदेव ने योग के ज़रिये लोगों की ज़िन्दगी बदलने का काम किया है।

आज इस लेख में हम आपको एक ऐसे ही प्राणायाम के बारे में बताने वाले है जिसको करने से लाखों लोगों की ज़िन्दगी बदली हैं और इसको करने के अनेक फायदे है। अगर आपके पास समय कम है, तो कुछ योग और प्रणायाम के आसन आपके लिए अच्छे विकल्प हो सकते हैं। कपालभाति प्राणायाम भी इन्हीं आसनों में से एक है।

कपालभाति प्राणायाम करने के लिए सिद्धासन, पद्मासन या वज्रासन में बैठ जाएं और अपनी हथेलियों को घुटनों पर रखें। अपनी हथेलियों की सहायता से घुटनों को पकड़कर शरीर को एकदम सीधा रखें।

अब अपनी पूरी क्षमता का प्रयोग करते हुए सामान्य से कुछ अधिक गहरी सांस लेते हुए अपनी छाती को फुलाएं। इसके बाद झटके से सांस को छोड़ते हुए पेट को अंदर की ओर खिंचे। जैसे ही आप अपने पेट की मांसपेशियों को ढीला छोड़ते हैं, सांस अपने आप ही फेफड़ों में पहुंच जाती है।

बाबा रामदेव कहते है कि कपालभाती प्राणायाम करने के बड़े फायदे है, इससे एक तो आपका शरीर तंदुरुस्त रहता है और आपको मौसमी बीमारियां नहीं होती है क्यूंकि इससे आपके फेफड़ों को शुद्ध ताज़ी हवा मिलती है।

सिर्फ इतना ही नहीं कपालभाति प्राणायाम शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करता है। शरीर में रक्त के परिसंचरण को सही करता है और इस से चेहरे पर दमक बढ़ती है।

आपकी पेट की चर्बी कपालभाति करने से अपने आप कम हो जाएगी और अगर आपको कब्ज़ और पेट से जुड़ी बीमारियां है तो भी यह आपके लिए लाभकारी है। क्यूंकि कपालभाति प्राणायाम करने से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और वजन कम होने लगता है।

Load More By Bihar Desk
Load More In योग और स्वास्थ्य
Comments are closed.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …