Home ताजा खबर बिहार में वज्रपात से सात लोगों की मौत, आंधी-तूफान का अलर्ट जारी

बिहार में वज्रपात से सात लोगों की मौत, आंधी-तूफान का अलर्ट जारी

7 second read
0
0
276

रविवार को प्रदेश के कई जिलों में बारिश और ओलावृष्टि से आम और लीची को भारी नुकसान हुआ है। विभिन्न जगहों पर वज्रपात की चपेट आने से सात लोगों की मौत हो गई। सिवान और गोपालगंज में दो-दो लोगों की जान गई। रोहतास, जहानाबाद और नालंदा जिले में भी एक-एक मौत की सूचना है।

सीएम ने जताई संवेदना, चार लाख मुआवजे का किया एलान

आंधी-तूफान से गोपालगंज में दो, सीवान में दो एवं नालंदा के हरनौत में एक व्यक्ति की मृत्यु पर मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं। मुख्यमंत्री ने तत्काल मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रूपये अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिया है।

आज भी बारिश का अलर्ट जारी 

पड़ोसी राज्यों में चक्रवाती हवाओं के सक्रिय होने से प्रदेश में बादल छाए रहेंगे। सोमवार को कुछ जिलों में गरज के साथ बारिश भी हो सकती है। रविवार की सुबह भी राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। 

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों का कहना है कि चक्रवात के कारण के पटना के अलावा गया में गरज के साथ बारिश होने के आसार हैं। वहीं पूर्णिया एवं भागलपुर  में भी बादल छाए रहने की उम्मीद है। विशेषज्ञों का कहना है कि वर्तमान में पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में चक्रवात सक्रिय है।

इसके अलावा बंगाल की खाड़ी में चक्रवात का प्रभाव देखा जा रहा है। खासकर पश्चिम बंगाल के समुद्र तटीय इलाके में फिलहाल चक्रवात काफी सक्रिय है। राजधानी में रविवार को अधिकतम तापमान 36.8 एवं न्यूनतम तापमान 25.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। 

फसलों को पहुंचा भारी नुकसान 

रविवार को बिहार के कई जिलों में आकाशी बिजली (वज्रपात) की चपेट में आने से सात लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में सिवान और गोपालगंज के दो-दो तथा जहानाबाद, नालंदा और रोहतास जिले का एक-एक व्यक्ति शामिल है। बारिश और ओलावृष्टि से राज्य में आम और लीची की फसल को भी भारी नुकसान हुआ है। 

रविवार को दोपहर तेज हवा के साथ मौसम का मिजाज बदला। कटेया प्रखंड के देवरिया गांव में ठनका गिरने से दो युवकों की मौत हो गई। जबकि एक अन्य किशोर गंभीर रूप से जख्मी हो गया। सिवान में रविवार की दोपहर बाद तेज गरज के साथ हुई बारिश और ओलावृष्टि से खेतों में खड़ी गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचा।

जिला मुख्यालय सहित, हुसैनगंज, जीरादेई, गुठनी सहित आधा दर्जन प्रखंडों में बड़े आकार के ओले गिरे। गुठनी निवासी वशिष्ठ राय की मौत ठनका गिरने से हो गई। जहानाबाद में वज्रपात से 55 वर्षीय बुटा यादव की मौत हो गई। नालंदा जिले में 40 वर्षीय किसान वाल्मीकि महतो की मौत हो गई।

रोहतास जिले के कोचस प्रखंड क्षेत्र के सेलास गांव में रविवार की देर शाम आकाशी बिजली गिरने से भोला शर्मा (62) नामक बुजुर्ग की मौत हो गई। जिस समय बिजली गिरी उस समय भोला शर्मा अपने खेत पर थे।

Load More By Bihar Desk
Load More In ताजा खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …