Home बिहार गया बिहार में 66 पर ठहरा कोरोना का आंकड़ा, रेड जोन में तीन जिले शामिल

बिहार में 66 पर ठहरा कोरोना का आंकड़ा, रेड जोन में तीन जिले शामिल

0 second read
0
0
203

बिहार में मंगलवार को दिन राहत भरा रहा। मंगलवार को कोरोना का एक भी पॉजिटिव केस सामने नहीं आया। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन में बताया गया कि कुल 518 सैंपल की जांच की गई, जिनमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव मिली। राज्य में अब तक कुल 7781 सैंपल की जांच की गई है, जिनमें 66 पॉजिटिव मामले पाए गए हैं। इनमें से मुंगेर के एक युवक की मृत्यु हो चुकी है। जबकि, 29 लोग स्‍वस्‍थ होकर घर वापस जा चुके हैं। जहां तक हॉट स्‍पॉट्स की बात है, राज्‍य में सिवान, बेगूसराय व नवादा को कोरोना के रेड जोन में रखा गया है।

बिहार में सेामवार को कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया। हालांकि, एक दिन पहले सोमवार को दो नए मामले सामने आए थे। सोमवार को बेगूसराय व नालंदा के एक-एक मरीज मिले थे। इसके पहले शनिवार को चार कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले थे।बिहार में अभी तक मिले मामलों में सर्वाधिक 29 सिवान के हैं। सिवान का रघुनाथपुर स्थित पंजवार गांव कोरोना का केंद्र बन गया है। आठ मामलों के साथ बेगूसराय दूसरे स्‍थान पर है। ये दोनों जिले कोरोना के हॉट स्‍पॉट बनकर उभरे हैं। तीसरा जिला जिसे कोरोना के रेड जोन में रखा गया है, नवादा है। वहां तीन पॉजिटिव केस मिले हैं।

मुंगेर में सात मामले मिले। वहां के एक संक्रमित की मौत भी हो गई। लेकिन यहां के सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों के स्‍वस्‍थ हो जाने के कारण अब यह हॉट स्‍पॉट नहीं रहा। राहत की बात यह भी है कि यहां बीते 15 दिनों के अंदर एक भी कोरोना केस नहीं मिला है। पांच मरीज मिलने के बावजूद अब पटना में भी कोरोना की चेन टूट चुकी है। पटना के सभी संक्रमित अब स्‍वस्‍थ हो चुके हैं और यहां भी 15 दिनों से एक भी केस नहीं मिला है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को समाप्‍त हो रहे लॉकडाउन को तीन मई तक के लिए बढ़ा दिया है। इस बीच 20 अप्रैल से वैसी जगहों पर कुछ छूट दी जाएगी, जहां कोरोना के मामले नहीं मिलेंगे। अगर ऐसा हुआ तो बिहार के ऐसे 27 जिलों में, जहां कोरोना का एक भी मामला नहीं मिला है, 20 अप्रैल के बाद कुछ राहत की उम्‍मीद की जा सकती है। पटना व मुंगेर, जहां बीते 15 दिनों से कोरोना के मरीज नहीं मिले हैं, में भी ऐसी उम्‍मीद की जा सकती है। हालांकि, छूट के संबंध में कोई फैसला स्थितियों के आकलन के बाद सरकार को करना है।

Load More By Bihar Desk
Load More In गया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जेपी के विकास मॉडल से दूर होगी बेरोजगारी, अगले वर्ष पांच जून को होगा राष्ट्रीय आयोजन

मुजफ्फरपुर । लोकनायक जयप्रकाश के मुशहरी आगमन के 50 साल पूरा होने पर विचार गोष्ठी का आयोजन …